Monday 3 March 2008

वात्सल्य

नींव का पहला पत्थर.....

4 comments:

Mired Mirage said...

आपके इस नये ब्लॉग के आने से मुझे बहुत खुशी होगी । हममें से अधिक बच्चों को अपने ही शरीर, जीवन, आत्मा,सोच और आकंक्षाओं का एक तरह से विस्तार ही मानकर चलते हैं । यह भूल जाते हें कि वे स्वयं में व्यक्ति हैं चाहे माप में छोटे । आशा है आपका ब्लॉग सबको एक नया चिन्तन देगा ।
घुघूती बासूती

Beji said...

घुघूतीजी ,
पहली पोस्ट पर आपकी टिप्पणी बिल्कुल आशीष सी आई है।
आभार।

dinesh joshi said...

beji your blog is very intersting i have read a lot of new things. Beji i have questions regarding pregenance. my married life is one and a half year old but still my wife is not pregnance. should i counselt a doctor or wait for some time.

Beji said...

Dinesh,

A gynaecologist should be able to address this query better.